Navratri Puja Vidhi | नवरात्रि पूजा विधि

Durga Ma Puja in Navaratri

For Mantra Diksha and Sadhana guidance email to shaktisadhna@yahoo.com or sumitgirdharwal@yahoo.com . You can call us on 9917325788 (Shri yogeshwaranand Ji) or 9540674788 (Sumit Ji). For more information visit our website http://www.yogeshwaranand.org or http://www.baglamukhi.net

Please Click Here to Subscribe for Monthly Magazine on Mantra Tantra Sadhana

Ghatsthapana : Chaitra (Vasant) NavratraKalash Sthapan – Ghatsthapan Muhurta (Auspicious Time)
Ghatsthapana Day – Mon, 31 March 2014 (Chaitra Shukla Pratipada)

1. घटस्थापन- कलश स्थापन मुहुर्त : 06:17 AM – 07:47 AM (Amrit Chaughadia)
2. Ghatsthapan Muhurta (Shubh Choghadia): 09:22 AM – 10:53 AM
3. Abhjit Muhurtha – 12:01 PM to 12:50 PM

Note: Rahu Kaal- 07:48 AM to 09:21 AM (Avoid this period) * Delhi, India Local Time (IST)

कल से माँ के नवरात्र शुरू हो रहे हैं। यह समय सभी साधको के लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होता है क्योंकि इस काल में की गयी उपासना का विशेष फल प्राप्त होता है। जो लोग अभी तक किसी कारण से कोई अनुष्ठान अथवा पुरश्चरण नहीं कर सके हैं उन्हें कल से वह अवश्य शरू कर देना चाहिए। यह जरुरी नहीं है कि नवरात्र में केवल माँ दुर्गा की ही उपासना की जाती है बल्कि इस समय आप किसी भी इष्ट देवता के मंत्रो का अनुष्ठान कर सकते हैं। नवरात्र के पहले दिन अपने गुरु देव से मंत्र दीक्षा लेकर, उसका अनुष्ठान करना चाहिए। कुछ साधको के मन में एक प्रश्न रहता है कि क्या नवरात्र में शरू किया गया अनुष्ठान नवरात्र में ही पूर्ण करना जरुरी है , नहीं ऐसा बिल्कुल नहीं है। ये अनुष्ठान आप २१ अथवा ४० दिन में भी पूर्ण कर सकते हैं लेकिन यदि हो सके तो अंतिम नवरात्र तक पूर्ण कर लेना चाहिए। यदि किसी कारण से अनुष्ठान करना सम्भव नहीं है तो नवरात्र में जितना अधिक जप हो सके उतना ही अच्छा है।

जो लोग माँ दुर्गा के उपासक हैं उनके लिए एक विशेष प्रयोग दे रहा हूँ। उसे निचे लिखे लिंक से डाउनलोड किया जा सकता है।

Download Durga Shabar Mantra for Navratri

Download Durga Puja and Saptashati Patha Vidhaan in Navaratri

नवरात्र में अपने इष्ट देव के सहस्रनाम से अर्चन करना चाहिए। सहस्त्रनाम में देवी/देवता के एक हजार नाम होते हैं। इसमें उनके गुण व कार्य के अनुसार नाम दिए गए हैं। सर्व कल्याण व कामना पूर्ति हेतु इन नामों से अर्चन करने का प्रयोग अत्यधिक प्रभावशाली है। जिसे सहस्त्रार्चन के नाम से जाना जाता है।  सहस्र नामावली के एक-एक नाम का उच्चारण करके देवी की प्रतिमा पर, उनके चित्र पर, उनके यंत्र पर या देवी का आह्वान किसी सुपारी पर करके प्रत्येक नाम के उच्चारण के पश्चात नमः बोलकर देवी की प्रिय वस्तु चढ़ाना चाहिए। जिस वस्तु से अर्चन करना हो वह शुद्ध, पवित्र, दोष रहित व एक हजार से अधिक संख्या में होनी चाहिए।अर्चन में बिल्वपत्र, हल्दी, केसर या कुंकुम से रंग चावल, इलायची, लौंग, काजू, पिस्ता, बादाम, गुलाब के फूल की पंखुड़ी, मोगरे का फूल, चारौली, किसमिस, सिक्का आदि का प्रयोग शुभ व देवी को प्रिय है। यदि अर्चन एक से अधिक व्यक्ति एक साथ करें तो नाम का उच्चारण एक व्यक्ति को तथा अन्य व्यक्तियों को नमः का उच्चारण अवश्य करना चाहिए।सहस्त्रनाम के पाठ करने का फल भी महत्वपूर्ण है। अर्चन की सामग्री प्रत्येक नाम के पश्चात, प्रत्येक व्यक्ति को अर्पित करनी चाहिए। अर्चन के पूर्व पुष्प, धूप, दीपक व नैवेद्य देवी/देवता को अर्पित करना चाहिए। दीपक पूरी अर्चन प्रक्रिया तक प्रज्वलित रहना चाहिए।

 

जो लोग शत्रु , ऊपरी बाधा एवं तंत्र प्रयोगो से ग्रस्त हैं उन्हें नवरात्र में माँ बगलामुखी अथवा माँ प्रत्यंगिरा का अनुष्ठान करना चाहिए

Ma Pratyangira Puja Vidhi

Ma Baglamukhi Puja Vidhi Part 1

Ma Baglamukhi Puja Vidhi Part 2

 

धन प्राप्ति एवं जीवन में चारो और सफलता प्राप्ति के लिए नवरात्र में श्री विद्या उपासना करनी चाहिए

Sri Vidya Upasana Vidhi

 

दश महाविद्याओ के किसी भी स्वरुप की पूजा जीवन में सफलता लेकर आती है।

Dhumavati Upasana Vidhi

Ma Kamakhya Upasana Vidhi

Mahakali Upasana Vidhi

Ma Tara Upasana Vidhi

Advertisements

About sumit girdharwal

I am a professional astrologer and doing research in the field of effects of mantras. I have keen interest in tantra and it's methodology. For mantra sadhana guidance email me to sumitgirdharwal@yahoo.com or call on 9540674788. For more information visit our website www.anusthanokarehasya.com

Posted on March 30, 2014, in नवरात्रि पूजा विधि, Navaratri Puja Vidhi and tagged , , , , , , , , , , , . Bookmark the permalink. 5 Comments.

  1. एक अनोखी नवरात्री पूजा विधि भक्‍तों के आनलाइन में आना अच्‍छी बात है। देव सहस्रनाम जाप नवरात्री की महत्‍वपूर्ण शक्ति है।

  2. Pranam guruji, agar nawarn mantra ” em hrim krim chamundaye vichhe namah” ka 1,25,000 mantra ka jaap kare to uska anusthan purn hua hai or usne safalta paye hai? is bat ka pramad (proof) kya hoga??

    krupaya mughe utter de.. aap se namra vinnanti hai.

      Regards..

    Rohann Mishra

  3. priyanka bhuyan

    Thanks for your monthly posts. However my query is regarding the shabar mantra. I was outside and unable to check my mail. Can i start the durga shabar mantra jaap from today?
    Regards
    Priyanka Bhuyan

    Date: Sun, 30 Mar 2014 17:28:05 +0000
    To: priyankabhuyan@hotmail.com

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: