Advertisements

Sri Kali Pratyangira Sadhana Evam Siddhi

Sri Kali Pratyangira Sadhana Evam Siddhi

kali-pratyangira

इस विद्या का तीनों संध्याओं में पाठ करने वाला साधक समस्त बाधाओं तथा शत्रुओं से सुरक्षित रहता है। किसी भी प्रकार की कोई विपत्ति उसे व्याप्त नहीं करती। ‘अंगिरा’ ऋषि द्वारा प्रणीत यह विद्या निश्चय ही साधक की समस्त आपदाओं का नाश करने वाली एवं सभी ग्रहों की कुदृष्टि से उसे सुरक्षित बनाने वाली है।
यह विद्या उग्र है इसलिए दीक्षित साधक ही इसका पाठ करें।

 

 

For Mantra Diksha & Sadhana Guidance email to shaktisadhna@yahoo.com or call us on 9540674788. Visit http://www.baglamukhi.info or http://www.yogeshwaranand.org

Downloadd Sri Kali Pratyangira Sadhana Evam Siddhi in Hindi and Sanskrit Pdf

Read the rest of this entry

Good Books on Mantra & Tantra Sadhana

Dear Readers,

Thanks for Reading our blog. As of today we have around 16000 subscribers of this blog which shows your love and affection.

Since you loved our blog we suggest you to read our books too as they have lots of information for you. You will love reading them.

Read the rest of this entry

Advertisements

How to stop worrying and remove stress and depression of life

Dear Friends,

Today i watched this video and thought to share this with all of you. May be this can help you somewhere in your life. It also proves that why people in the field of Sadhna and spirituality lives a very happy life as they leave all their problems in hand of their deity. Adding to this you should chant mantras and remove all the burden from your head.

अपनी सभी चिंताओं को परमपिता के चरणों में समर्पित कर दो और एक सुन्दर व खुशहाल जीवन जियो


For mantra diksha & sadhana guidance email to shaktisadhna@yahoo.com or call us on 9410030994, 9540674788 . For more information visit www.baglamukhi.info or http://www.yogeshwaranand.org

Buy our Books from Ebay –

Buy Agama Rahasya By Sri Yogeshwaranand Ji
Buy Shatkarm Vidhan Book
Buy Baglamukhi Sadhana Aur Siddhi
Buy Shodashi Mahavidya (Sri Vidya Sadhana)

Read the rest of this entry

Agama Rahasya Book By Sri Yogeshwaranand & Sumit Girdharwal

We are very happy to announce that Agama Rahasya book written by Sri Yogeshwaranand Ji  is getting released now. This book will provide you in depth knowledge of tantra and will clear many of your doubts related to tantra.

Read the rest of this entry

Shardiya Navratri 2016 Puja Vidhi शारदीय नवरात्रि

Shardiya Navratri 2016 Puja Vidhi शारदीय नवरात्रि

maa durga nava roop nine forms of shakti

यह है घट स्थापना का समय

शारदीय नवरात्रि का पहला दिन इस बार 01 अक्टूबर 2016 को पड़ रहा है। इस दिन कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 07:46 बजे से 09:14 बजे तक है।

यह है कलश स्थापना के लिए सामान

शारदीय नवरात्रि के लिए मिट्टी का पात्र और जौ, शुद्ध, साफ मिट्टी, शुद्ध जल से भरा हुआ सोना, चांदी, तांबा, पीतल या मिट्टी का कलश, मोली (कलवा), साबुत सुपारी, कलश में रखने के लिए सिक्के, फूल और माला, अशोक या आम के 5 पत्ते, कलश को ढकने के लिए मिट्टी का ढक्कन, साबुत चावल, एक पानी वाला नारियल, लाल कपड़ा या चुनरी की आवस्यकता होती है।

ऐसे करें कलश स्थापना

  • नवरात्रि में कलश स्थापना करने के दौरान सबसे पहले पूजा स्थल को शुद्ध कर लें।
  • लकड़ी की चौकी रखकर उसपर लाल रंग का कपड़ा बिछाएं।
  • कपड़े पर थोड़े-थोड़े चावल रखें।
  • चावल रखते हुए सबसे पहले गणेश जी का स्मरण करें।
  • एक मिट्टी के पात्र में जौ बोयें।
  • इस पात्र पर जल से भरा हुआ कलश स्थापित करें।
  • कलश पर रोली से स्वस्तिक या ‘ऊँ’ बनायें।
  • कलश के मुख पर कलवा बांधकर इसमें सुपारी, सिक्का डालकर आम या अशोक के पत्ते रखें।
  • कलश के मुख को चावल से भरी कटोरी से ढक दें।
  • एक नारियल पर चुनरी लपेटकर इसे कलवे से बांधें और चावल की कटोरी पर रख दें।
  • सभी देवताओं का आवाहन करें और धूप दीप जलाकर कलश की पूजा करें।
  • भोग लगाकर मां की पूजा करें।

If you need any guidance please call us on 9410030994 (Sumit Girdharwal Ji) or 9917325788 (Shri Yogeshwaranand Ji). Visit http://www.baglamukhi.info or http://www.yogeshwaranand.org for more info.

Download Durga Saptasati in Hindi and Sanskrit Pdf

Download Durga Shabar Mantra with Dushmahavidya and Shiva Sadhana

Read the rest of this entry

Mantra Siddhi Rahasya मंत्र सिद्धि रहस्य

Mantra Siddhi Rahasya मंत्र सिद्धि रहस्य

For Mantra Diksha & Sadhana guidance email to shaktisadhna@yahoo.com or call us on 9410030994. For more information visit http://www.baglamukhi.info or http://www.yogeshwaranand.org

Download Mantra Siddhi Rahasya by Sri Yogeshwaranand Ji & Sumit Girdharwal Ji

 

Read the rest of this entry

Pitra Paksha 2016 पितृ पक्ष ( Pitra Gayatri Mantra in Sanskrit )

Pitra Paksha 2016 पितृ पक्ष ( Pitra Gayatri Mantra in Sanskrit )

पितृ पक्ष में पितृ गायत्री मंत्र की कम से कम 11 माला का जप प्रतिदिन सूर्योदय के समय करना चाहिए।  साथ में यदि हो सके तो विष्णु सहस्रनाम का पाठ भी प्रतिदिन करना चाहिए।  जिन लोगो की कुंडली में पितृ दोष है उन्हें पितृ गायत्री का अनुष्ठान करना अथवा कराना चाहिए।  अधिक जानकारी के लिए संपर्क करे : +91-9410030994 और ईमेल करे sumitgirdharwal@yahoo.com

Pitra Paksha Date – 16 September 2016 – 1 October 2016

Download Vishnu Sahasranamam Pdf

Download Pitra Dosha Nivaran Mantra Vidhi in Hindi Pdf

pitra-gayatri-mantra

Pitra Dosha Nivaran Pitra Gayatri mantra

 

पित्र दोष निवारण के उपाय

  • पितृ गायत्री का अनुष्ठान करना अथवा कराना चाहिए।
  • पीपल के वृक्ष पर दोपहर में जल, पुष्प, अक्षत, दूध, गंगाजल, काले तिल चढ़ाएं और स्वर्गीय परिजनों का स्मरण कर उनसे आशीर्वाद मांगें।
  • यदि आपके पूर्वजों ने आपके पितरो के लिए कोई स्थान बनाया है तो होली एवं दीपावली पर उस स्थान पर जाकर पूजा करनी चाहिए।

Read the rest of this entry

Ganesh Chaturthi ( गणेश चतुर्थी ) 5th September 2016

आप सभी को गणेश चतुर्थी की बहुत-बहुत शुभकामनाएं । हमारी गणपति जी  से यही प्रार्थना है कि आप सभी सपरिवार सदैव प्रसन्न रहें और और आपके सभी कष्ट  दूर हो जाएँ।

 

ganesh chaturthi

आज से 10 दिवसीय गणपित उत्सव की शुरुआत हो रही है। गणेश चतुर्थी के मौके पर भगवान गणपति की प्रतिमा को घर लाकर हम पूजा की शुरुआत करते हैं। आज के दिन भगवान गणेश की प्रतिमा को घर लाना सबसे पवित्र समझा जाता है। जब आप बप्‍पा की मूर्ति को घर लाएं, उससे पहले इन चीजों को तैयार रखें। अगरबत्‍ती और धूप, आरती थाली, सुपारी, पान के पत्‍ते और मूर्ति पर डालने के लिए कपड़ा, चंदन के लिए अलग से कपड़ा और चंदन।
गणपति मूर्ति की पूजा करने के लिए सबसे पहले एक आरती की थाली में अगरबत्‍ती-धूप को जलाएं। इसके बाद पान के पत्‍ते और सुपारी को भी इसमें रखें। इस दौरान मंत्र ‘ ऊं गं गणपतये नम:’ का जाप करें। यदि कोई पुजारी इसे अंजाम दे रहे हों तो दक्षिणा भी अर्पित करें। जो श्रद्धालु गणेश जी की मूर्ति को चतुर्थी से पहले अपने घर ला रहे हैं, उन्‍हें मूर्ति को एक कपड़े से ढककर लाना चाहिए और पूजा के दिन मूर्ति स्‍थापना के समय ही इसे हटाना चाहिए। घर में मूर्ति के प्रवेश से पहले इस पर अक्षत जरूर डालना चाहिए। स्‍थापना के समय भी अक्षत को आसन के निकट डालना चाहिए। साथ ही, वहां सुपारी, हल्‍दी, कुमकुम और दक्षिणा भी वहां रखना चाहिए।
पूजा के लिए जरूरी सामग्री – गणपति की मूर्ति को घर में स्‍थापित करने के समय सभी विधि विधान के अलावा जिन सामग्री की जरूरत होती है, वो इस प्रकार हैं। जैसे लाल फूल, दूर्वा, मोदक, नारियल, लाल चंदन, धूप और अगरबत्‍ती।

आज के दिन लाल रंग के वस्त्र पहनना अति शुभ होता है। गणपति का पूजन शुद्ध आसन पर बैठकर अपना मुख पूर्व अथवा उत्तर दिशा की तरफ करके करें।

पंचामृत से श्री गणेश को स्नान कराएं तत्पश्चात केसरिया चंदन, अक्षत, दूर्वा अर्पित कर कपूर जलाकर उनकी पूजा और आरती करें। उनको मोदक के लड्डू अर्पित करें। उन्हें रक्तवर्ण के पुष्प विशेष प्रिय हैं। श्री गणेश जी का श्री स्वरूप ईशाण कोण में स्थापित करें और उनका श्री मुख पश्चिम की ओर रहे।

संध्या के समय गणेश चतुर्थी की कथा, गणेश पुराण, गणेश चालीसा, गणेश स्तुति, श्रीगणेश सहस्रनामावली, गणेश जी की आरती, संकटनाशन गणेश स्तोत्र का पाठ करें। अंत में गणेश मंत्र ‘ ऊं गणेशाय नम:’ अथवा ‘ऊं गं गणपतये नम: का अपनी श्रद्धा के अनुसार जाप करें।

आज के दिन किया जाने वाला विशेष काम – भगवान गणेश अपने भक्तों के समस्त विघ्नों को दूर करने के लिए विघ्नों के मार्ग में विकट स्वरूप धारण करके खड़े हो जाते हैं। अपने घर, दुकान, फैक्टरी आदि के मुख्य द्वार के ऊपर तथा ठीक उसकी पीठ पर अंदर की ओर गणेश जी का स्वरूप अथवा चि‍‍त्रपट जरूर लगाएं। ऐसा करने से गणेश जी कभी भी आपके घर, दुकान अथवा फैक्टरी की दहलीज पार नहीं करेंगे तथा सदैव सुख-समृद्धि बनी रहेगी। कोई भी नकारात्मक शक्ति घर में प्रवेश नहीं कर पाएगी।

अपने दोनों हाथ जोड़कर स्थापना स्थल के समीप बैठकर किसी धर्म ग्रंथ का पाठ रोजाना करेंगे तो शुभ फल मिलेगा। सच्‍चे मन और शुद्ध भाव से गणपति की पूजा करने से बुद्धि, स्‍वास्‍थ्‍य और संपत्ति मिलती है।

For Astrology, Mantra Diksha & Sadhana guidance call us on 9410030994 or  email us at sumitgirdharwal@yahoo.com

Listen Ganpati Sahasranamavali

जो लोग माँ बगलामुखी साधक हैं वो लोग हरिद्रा गणपति की दीक्षा लेकर हरिद्रा गणपति का अनुष्ठान प्रारंभ कर सकते हैं।

Download Haridra Ganapati Sadhana Vidhi

Shatkarma Vidhaan New Book षट्कर्म विधान

Shatkarma Vidhaan षट्कर्म विधान

New Book Written By Sri Yogeshwaranand Ji & Sumit Girdharwal Ji. This the best book on tantra which  provides in depth knowledge of Mantras Tantras & Yantras. It provides most powerful mantras of different fields.

Buy Shatkarma Vidhaan Book from Ebay

Ganapati Prayoga  ( गणपति प्रयोग )
Hanumat Prayoga ( हनुमत प्रयोग )
Baglamukhi Prayoga ( बगलामुखी प्रयोग )
Dhanada Yakshini Prayoga ( धनदा यक्षिणी प्रयोग )
Pratyangira Prayoga ( प्रत्यंगिरा प्रयोग )
Aghori Prayoga ( अघोरी प्रयोग )
Saundarya Lehri Ke Tantrik Prayoga  (  सौर्न्दर्य लहरी के तांत्रिक प्रयोग )
Durga Tantra Prayoga ( दुर्गा तंत्र प्रयोग )
Pitambara Panchastra Prayoga
Dhumavati Tantra Prayoga
Kaalratri Prayoga
Bhairav Prayoga
Navarna Mantra Prayoga
Shanti, Vashikaran (Mohan & Akarshan) , Stambhan, Uchattan, Vidweshan, Maran hetu mishra prayoga
Vishwavasu Gandharvaraaj Prayoga

Call us on 9410030994 to know more about it.

Preview of the Book

https://docs.google.com/document/d/1exCwn4k7LkPKYW1oYgnGyS3rSRgZiKBIKetXdX82IFk

Like Us on Facebook

It is a preview of the book shatkarm vidhan. If you want to buy this book please deposit Rs 280+100 (courier)= Rs 380/= in below a/c –
Sumit Girdharwal
Axis Bank 912020029471298 (Current A/C) IFSC Code – UTIB0001094 And send the receipt to our email sumitgirdharwal@yahoo.com

Shatkarmas are mentioned below  
Shanti,  Vashikaran (Mohan & Akarshan) Stambhan,  Uchattan, Vidweshan, Maran
 

Read the rest of this entry

Shatkarma Vidhaan षट्कर्म विधान

Shatkarma Vidhaan षट्कर्म विधान

New Book Written By Sri Yogeshwaranand Ji & Sumit Girdharwal Ji

Buy Shatkarma Vidhaan Book from Ebay 

Preview of the Book

It is a preview of the book shatkarm vidhan. If you want to buy this book please deposit Rs 280+100 (courier)= Rs 380/= in below a/c –
Sumit Girdharwal
Axis Bank 912020029471298 (Current A/C) IFSC Code – UTIB0001094 And send the receipt to our email sumitgirdharwal@yahoo.com

गणपति प्रयोग , हनुमत प्रयोग , बगलामुखी प्रयोग , धनदा यक्षिणी प्रयोग , प्रत्यंगिरा प्रयोग,  शीघ्र विवाह हेतु अघोरी प्रयोग, सौर्न्दर्य लहरी के तांत्रिक प्रयोग , दुर्गा तंत्र प्रयोग

Read the rest of this entry