Advertisements

Blog Archives

Ashadha Gupta Navratri 13 July 2018 ( आषाढ़ मास गुप्त नवरात्री 2018 )

Ashadha Gupta Navratri July 2018 ( आषाढ़ मास गुप्त नवरात्री 2018  )

13 जुलाई से आषाढ़ गुप्त नवरात्री प्रारम्भ हो रही है। गुप्त नवरात्री में पूजा सामान्य नवरात्री के सामान ही होती है, लेकिन इस समय का उपयोग आप विशिष्ट साधनाओं को संपन्न करने में एवं अपने जीवन को उच्च कोटि पर ले जाने के लिए कर सकते हैं। गुप्त नवरात्री में विशेष रूप से दस महाविद्याओं की उपासना की जाती है। भारत सदैव से ही अपनी आध्यात्मकि शक्तियों के कारण विश्व गुरु रहा है लेकिन आज की पीढ़ी विरासत में मिले इस ज्ञान का मोल नहीं समझ रही है और शायद यही कारण है की आज सभी सुख सुविधाएँ होने के पश्चात भी मनुष्य सुखी नहीं है। वास्तविक सुख ध्यान,योग एवं ईश्वरोपासना से ही प्राप्त किया जा सकता है ये जितना जल्दी हम समझेंगे उतना ही हमारे हित में होगा।

13 जुलाई को आंशिक सूर्य ग्रहण भी घटित हो रहा है लेकिन भारत में इसका प्रभाव न के बराबर है।  इसके पश्चात भी यदि कोई व्यक्ति जप , पूजन अथवा अनुष्ठान करता है तो उसका विशेष फल उसे प्राप्त होगा। यह जप आप शाम 6 बजे के बाद करें।

13 जुलाई 2018 (शुक्रवार) – प्रतिपदा, घट स्थापना, शैलपुत्री पूजा
14 जुलाई 2018 (शनिवार) – द्वितीया, ब्रह्मचारिणी पूजा
15 जुलाई  2018 (रविवार) – तृतीया, चंद्रघंटा पूजा
16 जुलाई 2018 (सोमवार) – चतुर्थी, कुष्मांडा पूजा
17 जुलाई 2018 (मंगलवार)– पंचमी, स्कंदमाता पूजा
18 जुलाई 2018 (बुधवार) – षष्टी, कात्यायनी पूजा
19 जुलाई 2018 (गुरुवार) – सप्तमी, कालरात्रि पूजा
20 जुलाई 2018 (शुक्रवार) – महागौरी पूजा, दुर्गा महा अष्टमी पूजा
21जुलाई 2018 (शनिवार)– नवमी नवरात्रि

If you need any guidance please call us on 9540674788 (Sumit Girdharwal Ji) or 9410030994 (Shri Yogeshwaranand Ji). Email us at shaktisadhna@yahoo.com

Download Gupt Navratri Puja Kamakhya Sadhana Vidhi in Hindi

Read the rest of this entry

Advertisements

Ashadha Gupta Navratri Starting 5th July 2016 गुप्त नवरात्री

Ashadha Gupta Navratri Starting 5th July 2016

maa durga nava roop nine forms of shakti

प्रत्येक वर्ष आने वाले दो नवरात्रों से तो आप सभी लोग परिचित हैं लेकिन इनके अलावा प्रत्येक वर्ष दो और नवरात्री होती हैं जिन्हें गुप्त नवरात्री कहा जाता है। पूर्व काल में इनका ज्ञान केवल उच्च कोटि के साधकों को होता था जो इस समय का उपयोग विशिष्ट साधनाओं को सम्पन्न करने में किया करते थे।
गुप्त नवरात्र में पूजा, उपासना सामान्य नवरात्रों के समान ही होती हैा तान्त्रिक समाज में इन नवरात्रों का बहुत ही महत्व है, जो इस समय की लगातार प्रतिक्षा करतें हैं।

If you need any guidance please call us on 9410030994 (Sumit Girdharwal Ji) or 9917325788 (Shri Yogeshwaranand Ji). Visit http://www.baglamukhi.info or http://www.yogeshwaranand.org for more info.

Read the rest of this entry